आंगनवाड़ी न्यूज़गाजीपुर

शहरी क्षेत्रों के आंगनवाड़ी केंद्रों पर पढ़ाई कैसे? आंगनवाड़ी केंद्रों का हुआ कायाकल्प

आंगनवाड़ी न्यूज

केंद्र सरकार द्वारा नयी शिक्षा नीति के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों पर प्री प्राइमरी शिक्षा शुरू करने के निर्देश जारी किए गए थे लेकिन लगभग 3 वर्ष बीत चुके है और अभी तक प्रदेश के आंगनवाड़ी केन्द्रो पर ये नीति पूर्ण रूप से लागू नहीं हो सकी है

गाजीपुर जिले मे आंगनबाड़ी केंद्रों की स्थिति बहुत दयनीय है। जिले के शहरी क्षेत्रो मे चल रहे 610 आंगनबाड़ी केंद्र किराये के भवनों में चल रहे है साथ ही अधिकांश आंगनबाड़ी केंद्रों के भवनो की स्थिति बहुत खराब हैं। जिले मे 22 नए आंगनबाड़ी केंद्र भी बनाये गये है लेकिन पूरे जिले के सापेक्ष इन केन्द्रो पर बच्चो को शिक्षा देना टेढ़ी खीर है।

वर्तमान समय मे जिले में 4127 आंगनबाड़ी केंद्र संचालित किये जा रहे हैं। इन केन्द्रो पर 3 से पांच वर्ष तक के लगभग ढाई लाख से अधिक बच्चे पंजीकृत हैं। आंगनवाड़ी भवनो की कमी के चलते 610 आंगनबाड़ी केंद्र किराये के भवनों में चल रहे हैं। खासकर शहरी क्षेत्र के आंगनवाड़ी केन्द्रो की स्थिति बहुत खराब है जिसके चलते आंगनवाड़ी कार्यकत्री पंजीकृत बच्चों को शिक्षा देने की स्थिति मे नहीं है।

जिले के ग्रामीण क्षेत्रो मे भी लगभग दो दर्जन आंगनवाड़ी केन्द्रो के भवन जर्जर हो चुके है। शासन द्वारा जिले के 210 आंगनबाड़ी केंद्रों का कायाकल्प किया गया है। इन केन्द्रो को मॉडल केन्द्रो के रूप में विकसित किया गया है जिसमे इन केंद्रों में सभी अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराई गयी हैं। इन मॉडल केन्द्रो मे वाल पेंटिंग के अलावा फर्नीचर,शौचालय आदि सभी सुविधाएं से सुसज्जित किया गया हैं।

जिले के कुल 4127 आंगनवाड़ी केन्द्रो पर मात्र 3588 आंगनबाड़ी कार्यकत्री ही नियुक्त हैं। कुल केन्द्रो के सापेक्ष जिले मे 399 पद आंगनवाड़ी वर्करो के रिक्त पड़े है। जबकि इन केन्द्रो पर सहायिका के 3588 पदो में मात्र 3100 ही नियुक्त है। आंगनवाड़ी सहायिका के 488 पद रिक्त है। इन कार्यकत्रियों के पद रिक्त होने से शिक्षा और पोषण का कार्य भी प्रभावित हो रहा है। जिले मे मिनी केन्द्रो के कुल 539 पदो पर 518 पद पर आंगनवाड़ी नियुक्त है जिसके कारण मिनी आंगनवाड़ी के 18 पद रिक्त है।

जिला कार्यक्रम अधिकारी दिलीप कुमार पाण्डेय का कहना है कि जनपद में बच्चो की अच्छी शिक्षा और पोषाहार देने के लिए 64 नए आंगनबाड़ी केंद्र बनाने के लिए स्थान तय हो चुका है। जिसमे करीब 25 केंद्र का निर्माण कार्य शुरू हो चुका है। बाकी अन्य केंद्रों के निर्माण के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजा जाएगा।

Aanganwadi Uttarpradesh

आंगनवाड़ी उत्तरप्रदेश एक गैर सरकारी न्यूज वेबसाइट हैं जिसका मुख्य उद्देश्य केंद्र सरकार द्वारा संचालित बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के अंतर्गत कार्यरत कर्मचारियों की गतिविधियों ,सेवाओ एवं निदेशालय द्वारा जारी आदेश की सूचना प्रदान करना है यह एक गैर सरकारी वेबसाइट है और आंगनवाड़ी उत्तरप्रदेश द्वारा डाली गई सूचना एवं न्यूज़ विभाग द्वारा जारी किए गए आदेशों पर निर्भर होती है वेबसाइट पर डाली गई सूचना के लिए कई लोगो द्वारा गठित टीम कार्य करती है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!