अन्य राज्यआंगनवाड़ी न्यूज़

कार्यकत्री और सहायिका का मानदेय एक समान करने का मुद्दा उठाया

आंगनवाड़ी न्यूज

झारखंड प्रदेश मे आंगनवाड़ी कार्यकत्री और सहायिका के मानदेय एक समान करने के लिए मांग उठने लगी है। राज्य के आंगनवाड़ी संगठन इसको लेकर मांग उठा रहे है।

जबकि आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका के कार्य मे बहुत बड़ा अंतर होता है। जंहा सेविका केंद्र संचालन से लेकर पूरा रिकॉर्ड को अपडेट रखने के साथ साथ केंद्र की हर ज़िम्मेदारी के लिए जवाबदेही होती है। जबकि सहायिका को सेविका के कार्य मे मदद करने का कार्य करती है।

झारखंड प्रदेश आंगनबाड़ी सेविका सहायिका कर्मचारी संघ द्वारा आंगनवाड़ी सेविका और सहायिकाओं का मानदेय एक समान करने की मांग कर रहा है। इसके लिए पतरातू पंचायत सचिवालय में आंगनवाड़ी संघ की तरफ से बैठक आयोजित की गई है। संघ की अध्यक्ष मीना कुमारी ने इस बैठक की अध्यक्षता और संचालन ममता देवी द्वारा की गयी।

इस बैठक में जिसमें मानदेय का भुगतान सुचारू रूप से करने, संपूर्ण बकाया मानदेय का भुगतान करने समेत कई बिंदुओं पर चर्चा की गई। संघ की तरफ से आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका का मानदेय भी एक समान करने पर ज़ोर दिया गया।

झारखंड सरकार द्वारा आंगनवाड़ी सेविका को 9500 और सहायिका को 4750 रुपए मानदेय तय किया है। संघ का कहना है कि सरकार द्वारा दिया जाने वाला मानदेय का भुगतान एक साथ किया जाए। वर्तमान समय मे मानदेय को लेकर आंगनवाड़ी बड़ी समस्या का सामना कर रही है।

बैठक में संघ ने कहा कि सिमराटांड़ पतरातू की आंगनवाड़ी सेविका मंजू देवी का आकस्मिक निधन हो गया है। इसके लिए झारखंड सरकार की नियोजन नीति के आधार पर सेविका मंजू देवी के परिवार मे किसी एक सदस्य को नौकरी दी जाये।

Aanganwadi Uttarpradesh

आंगनवाड़ी उत्तरप्रदेश एक गैर सरकारी न्यूज वेबसाइट हैं जिसका मुख्य उद्देश्य केंद्र सरकार द्वारा संचालित बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग के अंतर्गत कार्यरत कर्मचारियों की गतिविधियों ,सेवाओ एवं निदेशालय द्वारा जारी आदेश की सूचना प्रदान करना है यह एक गैर सरकारी वेबसाइट है और आंगनवाड़ी उत्तरप्रदेश द्वारा डाली गई सूचना एवं न्यूज़ विभाग द्वारा जारी किए गए आदेशों पर निर्भर होती है वेबसाइट पर डाली गई सूचना के लिए कई लोगो द्वारा गठित टीम कार्य करती है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!